August 3, 2021

जो कुछ बचा है सब बेचेंगे राजा जी के दूत नए

जो कुछ बचा है सब बेचेंगे
राजा जी के दूत नए
——————
राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर की स्मृति को अर्पित है, राजा जी के दूत नए।
जन्म तिथि – 17 अप्रैल 1927
पुण्य तिथि – 8 जुलाई 2007
——————
फिर से सपने दिखलाएंगे राजा जी के दूत नए।
हर पल खुशबू बतियाएंगे राजा जी के दूत नए।

मुमकिन नहीं बरसना लेकिन सभी मकानों के ऊपर,
बादल बनकर इठलाएंगे राजा जी के दूत नए।

चाँद चाँदनी तारा तरइ दूध राबड़ी का किस्सा,
हमको तुमको समझाएंगे राजा जी के दूत नए।

रोजी रोटी सुखमय जीवन को जग का जंजाल बता,
मौत को बेहतर बतलाएंगे राजा जी के दूत नए।

अपना लहू छुपा कर रखिए कहीं नसों के कोने में,
अब लेबी लेने आएंगे राजा जी के दूत नए।

तास भले फट जाए उससे जीत सुनिश्चित करने को,
बार बार सबको फेटेंगे, राजा जी के दूत नए।

परिवर्तन का अर्थ समझिए राजमहल की चालों से,
जो कुछ बचा है सब बेचेंगे राजा जी के दूत नए।

धीरु भाई ( धीरेन्द्र नाथ श्रीवास्तव )
8 जुलाई, 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *